Art Festival


India, a beautiful potpourri of cultures, always remains a fascinating and captivating beauty for the world. In so much diversity, the one thing that unites the country as a string of pearl is its colourful and interesting festivals, depicting the varied cultures, religions & regions forming integrated part of its vigour canvas.

Art festival is our collaborative effort to revive and retrieve the traditional and cultural heritage of the cities through art, paintings and other youth involvement. This would also help youth to get platform where they can show their creative and innovative skill. Art fest could be one of the best platform to using youth skill to promoting our culture and also using this platform to promoting clean and hygiene place for every village.


About Art Fest



card image

Sunlimetech

card image

Sunlimetech

card image

Sunlimetech

card image

Sunlimetech




Ayodhya Art Festival



(12-14 october 2018)

Ayodhya Art Festival 2018 was organized in kind support of Mr Rishikesh Upadhyay, Mayor – Ayodhya from 12th to 14th October 2018 in the holy city of Ayodhya. It was an amalgamation of youth energy and artistic skills, which has changed the look and feel of the city in 3 days.

The Inspiration The grand Ayodhya Art Festival (#AyodhyaArtFest) was curates with a motivation to decorate the 100 walls of Ayodhya with the murals of Lord Ram and his life story starting from Bal Kand to Sundar Kand.

Instead of getting the walls painted in regular form, we realized the value of painting these with the history of the city and that too by involving the youth of the country. In this way, the youth got a chance to get connected with the tradition of Ayodhya city and this in turn has helped the city in getting a meaningful renovation.

Major Attraction



100


Walls


150


Artists

100


Murals


1


Mission



Scripts


Rama and his Life



Our Testimonial


  • इस कला महोत्सव की बहुत से प्रतिभागियों से मिलने का सुनहरा अवसर प्रदान हुआ तथा साथ में ही कला के द्वारा अपनी पुरानी संस्कृति को दुबारा समझने और उसे फिर से चिंत्रांकित करने का शुभ अवसर प्रदान हुआ| इसकेलिए मई पुरे दिल से "आरोहणं फाउंडेशन" का सुक्रिया अदा करता हूँ सत्यम शुक्ला

    सत्यम शुक्ला

  • इस कलामहोत्सव से हमें अपनी हजारो साल पुरानी संस्कृति और विरासत को चित्रित करने तथा साथ साथ उसको समझने का भी मौका मिला और इसके लिए मैं "आरोहणं फाउंडेशन" तथा उसके आयोजकों को बहुत बहुत धन्यवाद करता हूँ.

    प्रवेंद्र पांडेय(D.A.V. Kanpur)

  • अयोध्या जैसी पावन नगरी में अपनी कला भावना को दर्शा और उभार कर जो संतुष्टि प्राप्त हुयी, वह मार्मिक है| मैं ह्रदयतल से आभार व्यक्त करती हूँ, "आरोहणं फाउंडेशन" का जिन्होंने इस राष्ट्रीय दर्जे की प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए जी जान से मेहनत की|

    इंदु कनौजिया

  • अयोध्या कला महोत्सव का अनुभव बहुत ही अद्भुत रहा| मैं आभार वय्कत करना चाहती हूँ तमाम उन महानुभावो का जिन्होंने इस प्रतियोगिता को सफल करने में अपना पूरा सहयोग दिया| कलाकारों के हृदय में अलग सी खुसी की लहार दौड़ी थी

    ट्विंकल अरोरा

  • अयोध्या में गत वर्ष हुए कला महोत्सव में रामायण के सभी कांड के चिंत्रण ने पुरे देश से आए हुए कलाकारों और अयोध्या की आस पास की जनता का मन मोह लिया| ऐसा लग रहा था की अयोध्या में फिर से भगवान राम अवतरित हुए हो|

    कीर्ति तिवारी

  • आनंद आता है की आरोहणं संस्था के द्वारा आयोजित कला महोत्सव से बहुत अनुभव लिया| बहुत मजा आया| "आरोहणं फाउंडेशन" द्वारा आयोजित हर आयोजन में की इच्छा जाहिर करता हूँ|

    राघवेंद्र कुमार

Contact with us


© 2019 Aarohanam Foundation

Privacy Policy